Gyaan Sagar ke Dus

0
1534
views
Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
23

ग्यान सागर के दस

इलाहाबाद के निम्न दर्शनीय स्थल

1. इलाहाबाद किला
2. संगम
3. स्वराज भवन
4. आनंद भवन
5. हनुमान मंदिर
6. खुसरौं बाग
7. इलाहाबाद म्युजियम
8. जवाहर प्लेनेटिरियम
9. चन्द्रशेखर आजाद पार्क
10. भारद्वाज आश्रम

इलाहाबाद किला-

Allahabad kila

संगम के निकट स्थित इस किले को मुगल सम्राट अकबर ने 1583 ई. में बनवाया था। वर्तमान में इस किले का कुछ ही भाग पर्यटकों के लिए खुला रहता है। बाकी हिस्से का प्रयोग भारतीय सेना करती है। इस किले में तीन बड़ी गैलरी हैं जहां पर ऊंची मीनारें हैं। सैलानियों को अशोक स्तंभ, सरस्वती कूप और जोधाबाई महल देखने की इजाजत है। इसके अलावा यहां अक्षय वट के नाम से मशहूर बरगद का एक पुराना पेड़ और पातालपुर मंदिर भी है।

संगम-

Sangam

इस स्थान पर गंगा, यमुना और सरस्वती नदी का मिलन होता है। संगम सिविल लाइन्स से 7 किलोमीटर की दूरी पर है। साधु सन्तों को यहां हमेशा पूजा पाठ करते हुए देखा जा सकता है। 12 साल में लगने वाले कुंभ मेले के अवसर पर संगम विभिन्न गतिविधियों का केन्द्र बन जाता है। यहां से सूर्योदय और सूर्यास्त का नजारा बेहद मनमोहक लगता है।

स्वराज भवन-

Swaraj Bhawan

इस ऐतिहासिक इमारत का निर्माण मोतीलाल नेहरू ने करवाया था। 1930 में उन्होने इसे राष्ट्र को समर्पित कर दिया था। इसके बाद यहां कांगे्स कमेटी का मुख्यालय बनाया गया। भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी का जन्म यहीं पर हुआ था।

आनंद भवन-

Anand Bhawan

इस जमाने में आनंद भवन भारतीय राजनीति में अहम स्थान रखने वाले नेहरू परिवार का निवास स्थान रहा। आज इसे संग्रहालय का रूप दे दिया गया है। यहां पर गांधी और नेहरू परिवार की पुरानी निशानियों को देखा जा सकता है।

हनुमान मंदिर-

bade hanuman mandir

संगम कें निकट स्थित यह मंदिर उत्तर भारत के मंदिरों में अद्वितीय है। मंदिर में हनुमान की विशाल मूर्ति आराम की मुद्रा में स्थापित है। यद्यपि यह एक छोटा मंदिर है फिर भी प्रतिदिन सैकड़ों की तादाद में भक्तगण आते हैं। नदी से नजदीक होने कारण बाढ़ आने पर यह मंदिर डूब जाता है।

खुसरौ बाग-

khushru baagh

इस विशाल बाग में खुसरों, उसकी बहन और उसकी राजपूत मां का मकबरा स्थित है। खुसरौ सम्राट जहांगीर के सबसे बड़े पुत्र थे। इस पार्क का संबंध भारत के स्वतंत्रता संग्राम से भी है।

इलाहाबाद म्युजियम-

allahabad museuam

चन्द्र शेखर आजाद पार्क के निकट स्थित है। इस संग्रहालय का मुख्य आकर्षण निकोलस रोरिच की पेटिग्स, राजस्थानी लधु आकृतियां, सिक्को और दूसरी शताब्दी से आधुनिक युग की पत्थरों की मूर्तियों के लिए प्रसिद्ध है। संग्रहालय में 18 गैलरी हैं और यह सोमवार के अलावा प्रतिदिन 10 से 5 बजे तक खुला रहता है।

जवाहर प्लेनेटेरियम-

jawahar planetarium

आनन्द भवन के बगल में स्थित इस प्लेनेटेरियम में खगोलीय और वैज्ञानिक जानकारी हासिल करने के लिए जाया जा सकता है। यहां प्रतिदिन पांच शो चलते हैं। सोमवार और सरकारी अवकाश के दिन यह प्लेनेटेरियम बंद रहता है।

चन्द्रशेखर आजाद पार्क-

allahabad ka chandrashekhar ajaad park

यह पार्क महान स्वतंत्रता सैनानी चन्द्रशेखर आजाद को समर्पित है जिन्होंने अंग्रजी सेना से लड़ते हुए अपने प्राणों की आहुति दे दी थी। पार्क में उनकी मूर्ति स्थापित है।

भारद्वाज आश्रम-

allahabad ka bhardwaj aashram

यह आश्रम संत भारद्वाज से संबंधित है। कहा जाता है भगवान राम चित्रकूट में बनवास जाने से पहले यहां आए थे। वर्तमान में यहां भारद्वाजेश्वर महादेव, संत भारद्वाज और देवी काली का मंदिर है।

 

 

 

 

 

 

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
23

Warning: A non-numeric value encountered in /home/gyaansagar/public_html/wp-content/themes/ionMag/includes/wp_booster/td_block.php on line 1008

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here