बड़े से बड़ा रोग ठीक कर सकता है रुद्राक्ष, साइंस ने भी माना इसे दिल के दौरे और हाई बीपी का अच्‍छा उपचार

0
24
views
Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

रुद्राक्ष की माला प्राचीनकाल से ही बहुत महत्वपूर्ण और शुभ मानी जाती है। रुद्राक्ष पहनने के फायदे आपकी सेहत से जुड़े हुए हैं, लेकिन वैज्ञानिक तौर पर इसके स्वास्थ्य लाभों को भी जानना जरूरी

दुनिया में लगभग 90 प्रतिशत लोग खराब जीवनशैली के कारण स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से परेशान हैं। भागदौड़ भरी जिन्दगी में हाइपरटेंशन, दिल और मानसिक रोगों का सामना करना पड़ रहा है। इन समस्याओं की एक ही वजह है, हमारे मन, आत्मा और शरीर के बीच असंतुलन। प्राचीन ग्रंथों में इस असुंतलन को दूर करने का एक ही उपाय बताया गया है वो है रुद्राक्ष।

रुद्राक्ष पहनना प्राचीनकाल से ही महत्वपूर्ण माना जाता है। इसके महान उपचार और वैज्ञानिक गुणों के कारण यह न केवल बड़े से बड़ा रोग ठीक कर सकता है, बल्कि हमारे मन और शरीर पर भी अच्छा प्रभाव डालता है। इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी फ्लोरिडा के वैज्ञानिकों के अनुसार, रुद्राक्ष मास्तिष्क के लिए बहुत फायदेमंद है। इसमें इलेक्ट्रोमैग्नेटिक पॉवर होती है, जिसके चलते यह हमारे शरीर पर जादुई रूप से काम करता है। रुद्राक्ष के कई फायदों से आप परीचित होंगे, लेकिन वैज्ञानिक तौर पर यह आपके स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद है, हम यहां आपको बताने जा रहे हैं।

दिल और इंद्रियों पर प्रभाव डालकर दिमाग करे शांत

हमारे शरीर का हर अंग ह्रदय से मास्तिष्क तक और फिर शरीर के बाकी हिस्सों में ब्लड सकुर्लेशन से जुड़ा रहता है। तनावपूर्ण जीवनशैली के कारण व्यक्ति कई रोगों का शिकार हो जाता है। ऐसे में रुद्राक्ष शरीर को स्थिर कर और दिल और इंद्रियों पर प्रभाव डालकर इन समस्याओं को हल करता है। रुद्राक्ष की माला पहनना न केवल ह्रदय स्वास्थ्य के लिए अच्छा है, बल्कि इससे ब्लड सुकर्लेशन भी ठीक बना रहता है। दिल के दौरे और हाई ब्लड प्रेशर के लिए यह सबसे अच्छा उपचार है।

रुद्राक्ष के चुंबकीय लाभ

रुद्राक्ष के मोती डायनामिक पोलेरिटी गुणों की वजह से एक चुंबक की तरह काम करते हैं। चुंबकीय प्रभाव के कारण रुद्राक्ष शरीर की अवरूद्ध धमनियों और नसों में रूकावट को दूर करता है । इसे पहनने से ब्लड फ्लो भी अच्छे से होता है। खास बात है कि रुद्राक्ष की माला में शरीर में होने वाले किसी भी तरह के दर्द और बीमारी को दूर करने की क्षमता है।

​मास्तिष्क पर नियंत्रण करे

आप अपने आसपास ऐसे कई लोगों से मिलते होंगे, जिनका व्यक्तितत्व आत्मविश्वास , बुद्धि , धैर्य के लिहाज से आकर्षक होता है। इस तरह की परफॉर्मेंस के पीछे कारण है मास्तिष्क पर नियंत्रण। जो लोग अपने मन और शरीर को नियंत्रित कर लेते हैं, वो लोग मजूबत हैं। रुद्राक्ष की माला व्यक्तित्व को आकार देने का काम करती है और इसे पहनने वाले को सकारात्मक ऊर्जा से भर देती है। बता दें, कि 1 मुखी माला व्यक्ति को धैर्यवान, 4 और 6 मुखी माला बुद्धिमान और 9 मुखी रूद्राक्ष की माला कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ाती है।

​ऊर्जा में स्थिरता लाए

रुद्राक्ष की माला हमारे अंदर सकारात्मकता ऊर्जा पैदा करती है। वैज्ञानिक अध्ययन साबित करते हैं कि रुद्राक्ष की माला में डायइलेक्ट्रिक गुण होते हैं, जो खराब ऊर्जा को स्टोर करने के लिए जाने जाते हैं। जब भी हम शारीररिक या मानसिक रूप से तनावग्रस्त होते हैं, तो उस वक्त हमारा शरीर ज्यादा ऊर्जा पैदा करता है, जिसे अगर स्टोर या बर्न न किया जाए, तो ब्लड प्रेशर, चिंता, अवसाद जैसी कई समस्याएं बढ़ती हैं। ऐसे में रुद्राक्ष की माला इस अनचाही ऊर्जा को स्थिर कर तंत्रिका तंत्र में सुधार और हार्मोन को संतुलिन करने में मदद करती है।

​एंटीइंफ्लेमेशन गुणों से भरपूर

रुद्राक्ष की माला में एंटीइंफ्लेमेट्री और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। इसलिए विद्वान अक्सर भीगे हुए रुद्राक्ष का पानी पीने की सलाह देते हैं। ऐसा करने से रोगों से मुक्ति मिलती है और प्रतिरोधक क्षमता में भी सुधार होता है।

बिजी लाइफस्टाइल में तनाव, सिरदर्द, उलझन, घबराहट को दूर करने के लिए भी आप रुद्राक्ष की माला पहन सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें इससे पहनने से पहले किसी विशेषज्ञ से सलाह जरूर ले लें। इससे आपके लिए कौन सा मुखी रुद्राक्ष धारण करना असरदार है, यह जानने में मदद मिलेगी।

अपनी जन्म पत्रिका पे जानकारी/सुझाव के लिए सम्पर्क करें।

WhatsApp no – 7699171717
Contact no – 909336666

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Warning: A non-numeric value encountered in /home/gyaansagar/public_html/wp-content/themes/ionMag/includes/wp_booster/td_block.php on line 1008

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here