राशि के अनुसार जानें कौन-सा रत्न आपके लिए साबित होगा लकी? धारण करते ही बदल जाएगी किस्मत

0
96
views
Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
1

आज हम आपको कौन सा रत्न किस राशि के लिए फायदेमंद होता है और कौन सा रत्न किस राशि के जातकों को पहनना चाहिए जो आपके लिए लाभदायक रहेगा इसके विषय में बताने जा रहें है . किसी भी व्यक्ति के जीवन में रंग और तरंग का सर्वाधिक महत्व होता है. रत्न भी इन्ही रंगों और तरंगों के माध्यम से प्रभाव डालते हैं. व्यक्ति के शरीर के सात चक्र इन्ही रंगों और तरंगों को ग्रहण करते हैं. रत्नों के प्रयोग से व्यक्ति की मानसिक स्थिति में तुरंत बदलाव हो जाता है. रत्नों का असर शरीर के साथ ही मन और कार्यों पर भी पड़ता है. रत्नों का लाभ तो थोड़ी देर में होता है लेकिन गलत रत्न पहनने का नुकसान जल्दी होने लगता है. आइए जानते हैं कि कौन सा रत्न किस राशि का होता है.

ज्यादा जानकारी के लिए हमनें उज्जैन के निवासी प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य पंडित सुधांशु मिश्रा से खास बातचीत की. उन्होंने ज्यादा जानकारी देते हुए बताया कि लोगों में कौन सा रत्न किस राशि के लिए शुभ माना जाता है, इसको लेकर बहुत कन्फ्यूजन होता है. कौन सा रत्न कौन सी राशि के लिए पहनना ठीक रहता है इसकी भी जानकारी उनको ठीक से नहीं मिल पाती है.

क्या है ज्योतिषाचार्य की राय?
ज्योतिषाचार्य पंडित सुधांशु मिश्रा ने बताया कि मेष और वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल है और मंगल ग्रह के लिए मूंगा रत्न पहनने की सलाह दी जाती है. मिथुन और कन्या राशि का स्वामी बुध है. कर्क राशि जिसका स्वामी चंद्रमा है और मीन राशि जिसका स्वामी गुरु है उनको मोती धारण करने से लाभ की प्राप्ति होती है. सिंह राशि जिसका स्वामी सूर्य है उनको माणिक रत्न धारण करने की सलाह दी जाती है. इससे जातक के व्यक्तित्व में निखार आता है. शनि कुंभ और मकर राशि का स्वामी है. इन जातकों को नीलम पहनने की सलाह दी जाती है. वृषभ और तुला राशि का स्वामी शुक्र है. इन राशि वाले जातकों को हीरा पहनने की सलाह दी जाती है. धनु और मीन राशि का स्वामी है गुरु, इन लोगों को पुखराज पहनना चाहिए. पुखराज पहनने से आपके मान सम्मान में वृद्धि होती है.

राशि रत्न का महत्व
रत्नों का हमारे जीवन में बहुत प्रभाव पड़ता है. कई बार जब हमारा जीवन अस्त-व्यस्त होता है और हम ज्योतिषी के पास अपनी कुंडली लेकर जाते है तो वो ग्रहों की चाल और दिशा के हिसाब से हमें रत्न बताता है जिससे ग्रहों का जो दुष्प्रभाव है वो काफी हद तक दूर हो जाता है. क्योंकि रत्नों की शक्ति से कमजोर ग्रह भी सशक्त होने लगता है.

रत्नों की तरह 9 प्रमुख ग्रहों (सूर्य, चंद्र, बुध, शनि और राहु-केतु समेत) का प्रभाव भी व्यक्ति के जीवन पर सकारात्मक और नकारात्मक रूप से पड़ता है। इसलिए ज्योतिष शास्त्र में ग्रहों के नकारात्मक प्रभाव को कम करने के लिए रत्न धारण करने की सलाह दी जाती है। ज्योतिष में प्रमुख 9 रत्न- माणिक्य, मोती, पन्ना, मूंगा, पुखराज, हीरा, नीलम, गोमेद, वैदूर्य के बारे में बताया गया है। आइए जानते हैं कि किस व्यक्ति को कौन-सा रत्न धारण करना चाहिए।

किसे पहनना चाहिए पन्ना

ज्योतिष के अनुसार, पन्ना का संबंध बुध ग्रह से माना गया है। वृषभ, मिथुन, कन्या, तुला, मकर और कुंभ राशि वालों के लिए पन्ना धारण करना शुभ होता है। जबकि सिंह, धनु और मीन राशि वालों की कुंडली के अनुसार कुछ स्थितियों में यह रत्न पहना जा सकता है। हालांकि मेष, कर्क और वृश्चिक वालों को पन्ना गलती से भी नहीं पहनना चाहिए। विद्यार्थियों और व्यापारियों के लिए यह खासतौर पर बहुत शुभ साबित होता है

किस राशि के जातकों के लिए है पुखराज

पुखराज रत्न का संबंध गुरु ग्रह से होता है। मेष, वृषभ, सिंह, धनु और मीन राशि के लोगों को पुखराज पहनना चाहिए, उनके लिए यह लाभदायक होता है। जिन राशियों के लिए पुखराज शुभ होता है, वे काफी उन्नति करते हैं। वहीं, वृष, तुला, मकर और कुंभ लग्न वालों को इसे धारण करने से बचना चाहिए।

किन लोगों के लिए हीरा है लाभकारी

हीरा रत्न वृष और तुला राशि का स्वामी है। इसे शुक्र ग्रह को प्रसन्न करने के लिए पहना जाता है। हीरा पहनना आजकल फैशन के तौर पर देखा जाता है। लेकिन मेष, कर्क, वृश्चिक, सिंह और मीन लग्न वालों को हीरा नहीं पहनना चाहिए। वहीं, वृष, मिथुन, कन्या, तुला, मकर और कुंभ लग्न के लिए यह शुभ होता है।

कब पहनना चाहिए नीलम

नीलम रत्न को बहुत सोच-समझकर और ज्योतिष की सलाह पर ही धारण करना चाहिए, क्योंकि कई स्थितियों में इसके परिणाम उल्टे भी हो सकते हैं। जिसके कारण व्यक्ति को गरीबी का सामना करना पड़ता है। नीलम उन्हीं लोगों को यह रत्न धारण करना चाहिए, जिनकी कुंडली में शनि कमजोर स्थिति में हो। खासकर सिंह लग्न वालों को नीलम रत्न धारण नहीं करना चाहिए।

कौन पहनते हैं गोमेद

गोमेद को राहु का रत्न माना जाता है। यह रत्न उसी व्यक्ति को धारण करने की सलाह दी जाती है, जिनकी राशि या लग्न भाव वृषभ, मिथुन, कन्या, तुला और कुंभ में हो। इसे अधिकतर राजनीतिज्ञ, जासूसी, जुआ, सट्टा खेलने वाले तथा तंत्र या मंत्र विद्या से जुड़े व्यक्ति पहनते हैं।

किन राशियों के लिए मना है माणिक्य

माणिक्य का संबंध सूर्य ग्रह से माना जाता है, इसलिए सूर्य से संबंधित समस्याओं के लिए इस रत्न को धारण करना चाहिए। ज्योतिष के अनुसार, जिनकी राशि या लग्न सिंह, मेष, वृश्चिक, कर्क और धनु है, उनके लिए माणिक्य रत्न धारण करना शुभ होता है। कन्या, तुला, मकर और कुंभ राशि वाले जातकों को माणिक्य नहीं पहनना चाहिए।

मोती पहनने के लाभ

मोती चंद्रमा का रत्न है। इसे धारण करने से मन की समस्याओं में आराम मिलता है। लेकिन वृष, मिथुन, कन्या और मकर राशि के लोगों को बिना ज्योतिष सलाह के मोती नहीं पहनना चाहिए। हालांकि, मेष, कर्क, वृश्चिक और मीन लग्न के लिए मोती धारण करना अत्यंत लाभदायक होता है।

मूंगा किस ग्रह से है संबंधित

मंगल ग्रह का रत्न मूंगा लाल या नारंगी रंग का होता है। मेष राशि वालों का स्वामी मंगल है। ऐसे में इस राशि के लोग मूंगा धारण कर सकते हैं। इसके साथ ही वृश्चिक राशि वाले भी इस रत्न को पहन सकते हैं, लेकिन कन्या और मिथुन लग्न वालों को यह रत्न धारण करने से बचना चाहिए।

किन्हें पहनना चाहिए वैदूर्य

वैदूर्य केतु का रत्न होता है। इसे लहसुनिया रत्न भी कहा जाता है। अगर कुंडली में केतु अनुकूल हो तभी इसे धारण करें। ज्योतिष के अनुसार, वृषभ, मकर, तुला, कुंभ और मिथुन राशि के जातकों के लिए लहसुनिया रत्न पहनना शुभ होता है।

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
1

Warning: A non-numeric value encountered in /home/gyaansagar/public_html/wp-content/themes/ionMag/includes/wp_booster/td_block.php on line 1008

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here